ये 3 देश अमेरिका के हैं सबसे बड़े दुश्मन, लेकिन भारत के पक्के दोस्त

ऐसे देश जिनसे भारत अमेरिका की परवाह किये बिना मित्रता निभा रहा है

अमेरिका दुनिया का सबसे ताकतवर देश माना जाता है. यूरोप हो या फिर अरब और एशिया दुनिया के ज्यादातर देश इसी कारण अमेरिका के करीब रहना पसंद करते हैं. लेकिन कई देश ऐसे भी हैं जिनसे अमेरिका की बिलकुल भी नहीं बनती और वह उन्हें दुश्मन देश की तरह देखता हैं. लेकिन अचंभे की बात ये है कि वो सब देश भारत के दोस्त हैं.

ये 3 देश अमेरिका के हैं सबसे बड़े दुश्मन, लेकिन भारत के पक्के दोस्त
Source

हम आज आपको भारत के दोस्त माने जाने वाले ऐसे ही देशों के बारे में बता रहे हैं जिनके साथ भारत मुश्किल दौर में भी खड़ा रहा है और आज भी उन्हीं के साथ है :

रूस

रूस को अमेरिका अपना सबसे बड़ा दुश्मन मानता है लेकिन उसी जगह भारत अमेरिका की बिना परवाह किये रूस के साथ अपनी दशकों पुरानी दोस्ती निभा रहा है. कोल्ड वॉर में जब सारी दुनिया अमेरिका की तरफ थी तब भारत भले ही उपरी तौर पर गुट-निरपेक्ष रहा हो लेकिन उसने सोवियत रूस का ही पक्ष लिया था. रूस और भारत की दोस्ती दुनिया में मिसाल के तौर पर देखी जाती है. हाल ही में भारत ने अमेरिका की धमकी की परवाह किये बगैर रूस से S-400 डील फाइनल की थी.

ईरान

ईरान एक ऐसा देश है जिसे अमेरिका सख्त नफरत करता है. खासकर अमेरिका समर्थित रजा पहलावी को ईरान के शासन से हटाकर शिया धर्मगुरु अयातुल्लाह खुमैनी को सत्ता पर बिठाये जाने के बाद से. लेकिन दूसरी तरफ ईरान भारत का करीबी मित्र है और भारत ईरान से रुपयों में पेट्रोलियम तो खरीदता ही है साथ ही ईरान के चाबाहर में एक बंदरगाह का निर्माण भी कर रहा है.

वियतनाम

वियतनाम वो देश है जिसने कोल्ड वॉर के समय अमेरिका को युद्ध में करारी शिकस्त दी थी. अमेरिका वियतनाम युद्ध का दर्द आज भी नहीं भूला है. वियतनाम एशिया में भारत के सबसे करीबी दोस्तों में से एक है. भारत वियतनाम को हथियार तो देता ही है साथ ही भारतीय नौसेना के जहाज भी अक्सर वियतनाम में तैनात होते हैं. वियतनाम दुनिया के उन गिने-चुने देशों में है जिसे भारत ने मोस्ट फेवर्ड नेशन (MFN) का दर्जा दिया हुआ है.