मुस्लिम बना सकते हैं अपनी बेटी से संबंध, मौलवी का विवादित फतवा

मिस्त्र के इस मौलवी का फतवा इंसानियत को शर्मसार कर देता है

इस्लाम की मनगढंत व्याख्या को लेकर मौलवी आये दिन चर्चा में आते रहते हैं लेकिन अब मिस्त्र के एक मौलवी ने ऐसी बात कह दी है जिसको लेकर पूरे इस्लामिक जगत में एक नयी बहस ने जन्म ले लिया है। मिस्र के जाने-माने मौलवी ने कहा है कि इस्लाम पुरुषों को अपनी नाजायज़ बेटियों से शादी करने की इजाजत देता है इसलिए वे ऐसा कर सकते हैं।

इस्लाम में है बेटियों से शादी और सेक्स की इजाजत, देखें इस मौलवी का वीडियो
Source

इमाम अल-शफी नाम के मौलवी ने कहा है कि नाजायज़ बेटियों से आधिकारिक तौर पर उनके पिता का कोई संबंध नहीं रहता है इसलिए वे अपने पिता से शादी करने लायक होती हैं। मौलवी ने यह बयान एक वीडियो के जरिये दिए जो कि, सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है।

‘द सन’ की एक रिपोर्ट की माने तो, मिस्र के प्रसिद्ध अल-अजहर यूनिवर्सिटी में पढ़ाने वाले अल-सेरसावी ने यह विडियो शेयर किया है और दावा किया है कि अल-शफी मानते हैं कि अगर कोई बच्ची नाजायज रिश्तों की वजह से पैदा हुई है तो पिता उस बच्ची के साथ सेक्स और शादी कर सकता है क्योंकि सच में वह उस शख्स की बेटी नहीं है।

इस वीडियो में इमाम का कहना है कि नाजायज बेटी अपने पिता का नाम से नहीं जुड़ती, इसलिए शरिया के मुताबिक वह उसकी बेटी नहीं मानी जायेगी जिस कारण पिता उसके साथ संबंध बना सकता है और इस्लाम इस चीज की इजाजत देता है। बताया जा रहा है यह वीडियो थोड़ा पुराना है लेकिन इंटरनेट पर अब शेयर किया जा रहा है।

वीडियो वायरल होने के बाद से ही इंटरनेट पर लोग इमाम के इस बयान की आलोचना कर रहे हैं। इसी साल, मिस्र के एक अन्य मौलवी ने एक टेलिविजन डिबेट में कहा था कि शरिया में लड़कियों की शादी की कोई तय उम्र नहीं है इसलिए उनके पैदा होते ही शादी की जा सकती है।

देखें वीडियो :