सोनू पंजाबन : देह व्यापार के धंधे की रानी, इन्हीं पर बनी थी फिल्म ‘फुकरे’

दिल्ली की लेडी डॉन

सोनू पंजाबन दिल्ली में एक माना जाना नाम है, किसी महान काम के लिए नहीं बल्कि देह व्यापार जैसे अपराध के लिए। दिल्ली में सोनू पंजाबन को देह व्यापार की रानी भी कहा जाता है क्योंकि कई बार जेल जाने के बावजूद भी उसने खुद को बदला नहीं और अपने धंधे में संलिप्त है।

सोनू पंजाबन : देह व्यापार के धंधे की रानी, इन्हीं पर बनी थी फिल्म 'फुकरे'
Source

सोनू का असली नाम गीता अरोड़ा है। पुलिस के अनुसार, सोनू देह व्यापार का धंधा संगठित तरीके से करती रही है। वह कॉल गर्ल्स को क्लाइंट्स के पास भेजती है, जिनमें ज्यादातर कॉलेज की छात्राएं होती हैं।

खबरों की माने तो, सोनू बेहद ही हाई-टेक तरीके से अपना देह व्यापार का धंधा चलाती थी, वह देह व्यापर के पुराने तरीकों से अलग टेक्नोलॉजी का पूरा लाभ उठाती है। सोनू अपने क्लाइंट्स और कॉल गर्ल्स से वॉट्स ऐप और विडियो कॉल के जरिए संपर्क में रहती थी।

पुलिस के अनुसार, सोनू पंजाबन लड़कियों को क्लाइंट के पास भेजने के लिए 30 फीसदी कमीशन लेती थी, जो अमूमन 20 से 25 हजार रुपये के करीब होता। आमतौर पर यह लेन-देन ई वॉलेट और मोबाइल वॉलेट के जरिए करती थी, ताकि पुलिस को उसके खिलाफ कोई सबूत न मिले।

सोनू पिछले कई महीनों से जेल में थी फ़िलहाल वह 7 दिन की अंतरिम जमानत पर जेल से बाहर है। जमानत अवधि खत्म होते ही जेल वापस जाना है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, सोनू पर संगठित रूप से देह व्यापार चलाने के कई केस दर्ज हैं। ‘फुकरे’ फिल्म की भोली पंजाबन दरअसल सोनू पंजाबन से ही प्रभावित किरदार है।

सोनू पर दर्ज मामलों में कई गंभीर मामले भी हैं जैसे नाबालिग लड़कियों की खरीद-फरोख्त, उनसे जबरन देह व्यापार कराने, अपहरण, बलात्कार और पॉक्सो केस जैसे केस हैं जिसमें पुलिस ने उसे जेल पहुंचाया है और अब उसकी जमानत की राह मुश्किल हो गई है।

हाल ही में सोनू पर गोलियां चलने की खबरें आयी थीं जो मीडिया की सुर्खियां बनी थीं फ़िलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।