हीरामंडी : पाकिस्तान का वो बदनाम इलाका जहां देह बिकती है

आप दुनिया के किसी भी बड़े शहर में चले जायं आपको वहां कुछ मिला ना मिले आपको कम से कम एक रेड लाईट एरिया हर जगह मिल जाएगा. जहाँ ज्यादातर जगहों पर यह लोगों के बीच जाना माना होता है वहीं कई जगह ये गुप्त रूप से चलता है. आज हम आपको दुनिया के एक ऐसे ही रेड लाईट एरिया के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे धरती का सबसे बड़ा रेड लाईट एरिया भी कहा जाता है.

हीरामंडी : पाकिस्तान का ये रेड लाईट एरिया है धरती पर देह व्यापार का सबसे बड़ा अड्डा
ग्राहकों के सामने नृत्य परोसती हीरामंडी की तवायफें

बताया जाता है 16वीं सदी में लाहौर की हीरामंडी नाम से प्रसिद्ध इस देह मंडी को मुगलों ने शुरू किया था, अंग्रेजी हुकूमत से लेकर विभाजन और पाकिस्तान में हालिया इस्लामीकरण के बावजूद ये बाजार सजा रहा लेकिन यहां के बाशिंदे कहते हैं कि ये पहले जैसा नहीं रहा.

आधी रात के बाद ऐसा लगता है कि, पाकिस्तान में लाहौर की हीरामंडी के लिए तो जैसे अभी दिन शुरू हुआ है. इस पुराने शहर में ज्यादातर लोग जब नींद के आगोश में जा चुके होते हैं तो हीरामंडी की दुकानों का सजना शुरू होता है. इसके बाद बारी आती है यौनसुख का वादा करती मादक अदाओं और मनमोहक नाच की, जो यहां सदियों से होता आ रहा है.

हीरामंडी दक्षिण एशिया के पारंपरिक देह बाजार का सबसे पुराना और बड़ा ठिकाना है. घरों के भीतर जीवंत संगीत, रंगीन कपड़ों में सजी औरतें बालकनी में बने खास झरोखों से झांकती रहती हैं और नीचे दलाल गली से गुजरने वालों को “बेहतरीन सौदा” दिलाने का वादा कर अपनी ओर खींचने में लगे रहते हैं.

संकरी गलियों में जगह जगह फूलों की दुकान भी दिखती है क्योंकि इन औरतों को फूल पेश करना यहां की रिवायत है. लाल और सफेद फूलों का ही यहां चलन है और दुकानों से उनकी खुशबू उड़ती रहती है.

NEXT पर क्लिक कर पढ़ें अगले पेज हीरामंडी के और भी राज